Breaking News

हेमंत सोरेन की मुश्किलें बढ़ी: सरकार बचाने के लिए छत्तीसगढ़ भेजे गए MLA

रांची. झारखंड में सियासी हलचल मची हुई है। लीज माइनिंग केस में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की सदस्यता जानी तय है। ऐसे में सत्ता पक्ष में बैठकों का दौर जारी है। शनिवार को हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में महागठबंधन के विधायकों की बैठक हुई। बैठक के बाद सियासी हलचल काफी तेज हो गयी है। यूपीए के विधायक तीन बसों में सवार होकर सीएम आवास से निकल गये है। तीनों बसों को पीछे वाली गेट से निकाला गया है। बताया जा रहा है कि सभी विधायकों को छत्तीसगढ़ भेजा गया है। विधायकों को तीन बसों से छत्तीसगढ़ ले जाने की भविष्यवाणी भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने एक दिन पहले ही कर दी थी। हेमंत सोरेन के लिए सबसे बड़ी मुश्किल ये है कि पार्टी की सीक्रेट मीटिंग की बातें भी बीजेपी सांसद के पास पहुंच रही हैं। 

विधायकों को कहां लेकर जा रहे इस पर संशय
सीएम हेमंत सोरेन के आवास पर सत्ता पक्ष के तमाम विधायक लगेज, बैग और खाने-पीने के सामान के साथ पहुंचे थे। बताया जा रहा है कि सभी विधायकों को एकजुट रखने के लिए छत्तीसगढ़ ले जाया सकता है। हालांकि सभी विधायक इस बात से फिलहाल इनकार कर रहे हैं।

बैठक की खबरें बाहर जाने से परेशान हेमंत सोरेन
मुख्यमंत्री बैठक की खबरें लीक होने से परेशान है। इसके लिए शुक्रवार रात सीएम ने डिनर पर यूपीए में शामिल हर एक नेता से वन टू वन बात की। साथ ही अनुपस्थित विधायकों से फोन पर बात की। यूपीए विधायक दल के नेता इस बात से परेशान हैं कि आखिर कैसे, बैठक की बातें जो मीडिया तक नहीं पहुंचती वह भाजपा सांसद तक पहुंच रही हैं। मुख्यमंत्री ने इस बात से नाराजगी जताई है कि बैठक की बातें भाजपा के नेताओं और खासकर निशिकांत दुबे तक कैसे पहुंच जाती हैं? उन्होंने कहा कि जरूर हम लोगों के बीच से ही बैठक की सूचनाएं लीक हो रही हैं।

निशिकांत दुबे के ट्वीट से परेशान झामुमो-कांग्रेस के नेता
बता दें कि बीजेपी सांसद ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में हेमंत सोरेन की परेशानी बढ़ने वाली जानकारी से लेकर बरहेट विधायक की सदस्यता जाने, दुमका-बरहेट में उपचुनाव होने और महागठबंधन के विधायकों को बस में बैठाकर छत्तीसगढ़ ले जाने की दी जानकारी। इसके अलावा कुछ जानकारियां ऐसी जरूर है जिस पर महागठबंधन विधायक दल की बैठक में जरूर चर्चा हुई होगी और अगले ही पल भाजपा सांसद ने इसे सोशल मीडिया पर सार्वजनिक कर दिया।

leave a reply